सोहना के हरचंदपुर गाँव में तीनो पालो की  महापंचायत 

सोहना के गांव हरचंदपुर मंदिर  में  पुरानी जमीनी विवाद को लेकर महापंचायत का आयोजन किया गया। आपको जानकारी के अनुसार बता दे की।
सोहना के गांव टोलनी  के रहने वाले  धर्मवीर पुत्र जित राम व् पूर्व जिला पार्षद (कांग्रेस ) जिला परिषद् 20  सालो से पुराणी रंजिस के चलते एक जमींनी  विवाद को लेकर 14 -6 -17को बिजेंद्र जेलदार ने रजिसन के चलते धर्मवीर के खिलाफ एक रागदारी का झूठा परचा दर्ज कराने का प्रयास किया जिसकी  जांच  एस  आई टी की द्वारा तत्कालीन एसीपी धर्मवीर मानेसर द्वारा करवाई गई जांच के दौरान बिजेंद्र जेलदार द्वारा धर्मवीर द्वारा पर लगाए गए आरोप झूठे व् निराधार पाए गए। उसी जमीन  के सबंदित एक केस तहसील कार्यालय सोहना  में  तहसीलदार के समक्ष उस  जमीन की तकसीम का मुकदमा चल रहा था दिनांक 9 -7 -2017 को उस जमीन  मुक़दमे की सुनवाई के लिए धर्मवीर व् बिजेंद्र का लड़का ब्रिम तसीलदार के यहाँ समक्ष पेस हुए जहा
तारीख भुगतने के उअपरान्त तहसील परिसर में पहले से ही घात  लगाए बैठे बिरम  पुत्र बिजेंद्र  अपनी बिर्जा  गाड़ी को लेकर गाड़ी से टक्क्र मर कर जान से मारने  की नियत से घात लगाकर खड़ा हुआ था जैसे ही धर्मवीर उसकी गाड़ी के सामने पड़ा तो उसने पीछे से जोरदार टक्क्रर मारी  जिसमे धमवीर की जान तो बच गई पर उसका ेकन पैर खराब हो गया। बीरम द्वारा धर्मवीर को जान से मारने  करने के कारण  बिरम  के खिलाफ सिटी थाना सोहना में एस आई टी की जांच के उपरांत धारा 307 ,201 ,120 बी  के तहत FIR दर्ज करवाई गई जो केस सेसन केस गुरुग्राम में चल रहा  है  उसमे  पीड़ित धर्मवीर की गवाही की तारीख 14 -8 -19 लगी हुई   है  परन्तु बिजेंद्र जेलदार ने अपने बेटे की सजा हो जाने की डर  से सडयंत्र के तहत उपरोक्त केश का रजिनाम करने के मकसद से क्रॉस केश बनाने के लिए अपनी खुद की गाड़ी में खुद ने अवैध ाथियार से कंडेक्टर साइड गोली मारना  दर्शाकर 100  न  पुलिस बुला ली की
धर्मवीर व् धर्मवीर के बेटो ने मेरे को मारने  का प्रयास किया है और धर्मवीर और उनके परिवार के खिलाफ धारा  307  आर्म एक्ट के तहत मामला दर्ज करवा दिया। पीड़ित धर्मवीर ने अपने ऊपर लगे  आरोपों को दिनाक 5 — 8 -2019  को हरचदपुर मंदिर में तीनो  पालो की महापंचायत  के सामने रखा। जिसमे  पीड़ित धर्मवीर के पक्ष सुनने के बाद पंचायत ने निर्णय लिया की बिजेंद्र जेलदार के लगाए गए आरोप निराधार सरेआम झूठ है। इसीलिए सभी पांचो ने  धर्मवीर के साथ देने का आश्वासन दिया और प्रशासन से गुहार लगाई की बिजेंद्र द्वारा लगाए गए आरोप झूठे है इसीलिए इस FIR को ख़ारिज किया जाये। ताकि पीड़ित धर्मवीर को न्याय  मिल सके। महापंचायत के नियुक्त किये हुए व्यक्ति एसीपी सोहना व् पुलिस कमिश्नर  गुरुग्राम   से मिले और पंचायत में निर्णय लेने के बारे में बताया जिस पर पुलिस कमिश्नर ने अति शीघ्र जांच  के आदेश  दिए और आश्वासन दिया की पीड़ित को न्याय  मिलगा।

Post Author: NEWS NATIONAL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *