Knowledge Steez ने आयोजीत किया तीसरा विश्व स्तरीय सम्मेलन

नई दिल्ली – (स्वर्णिमा मिश्रा ) – Knowledge Steez द्वारा 4 अगस्त, 2019 को मानवाधिकार और बौद्धिक संपदा अधिकारों पर 3 वें विश्व सम्मेलन का आयोजन यूरोपीय सेंटर फॉर लीगल एजुकेशन एंड रिसर्च, रोमानिया, ऑल इंडिया लॉ टीचर कांग्रेस, ILS लॉ कॉलेज, पुणे, IHMSAW, बांग्लादेश और मनुपात्रा के साथ मिलकर किया है.
ILI ऑडिटोरियम में आयोजीत इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय विधि संस्थान, दिल्ली के निदेशक डॉ (प्रो.) मनोज कुमार सिन्हा , दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रो. डॉ. वी.के. आहूजा,भारत सरकार के विधि और न्याय मंत्रालय के न्याय विभाग के संयुक्त सचिव श्री जीआर राघवेंद्र ,IHMSAW बांग्लादेश की निदेशक सुश्री रिजवाना यूसुफ, इंडिपेंडेंंइ थोटस के संस्थापक श्री विक्रम श्रीवास्तव रहे. कार्यक्रम की संयोजक डॉ. प्राची मोटियानी ने साइबर स्पेस में पारंपरिक ज्ञान और ट्रेडमार्क मुद्दों के संरक्षण पर चर्चा करते हुए सम्मेलन का विषय प्रस्तुत किया, इसके अलावा मानवाधिकार संरक्षण के संदर्भ में पौधों की विविधता संरक्षण से संबंधित मुद्दों पर , मानव अधिकारों के संरक्षण के महत्व और बौद्धिक संपदा का मानवाधिकारों के साथ संबंध पर चर्चा की गई. सुश्री रिजवाना यूसुफ ने बांग्लादेश के संविधान और आईपी कानून की रक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे चर्चा की. इसके साथ ही आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों के यूडीएचआर और अंतर्राष्ट्रीय करार के बारे में , कॉपी राइट्स कानून के बारे में भी चर्चा की गई. सम्मेलन का समापन श्री नितेश उपाध्याय ने पेटेंट अधिनियम की धारा 3 (डी) के बारे में चर्चा और मानव अधिकारों और आईपी के संघर्षों के बारे में बता कर किया. इस विश्व स्तरीय सम्मेलन में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिभागियों और विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों सहित लगभग 200 प्रतिभागीयों ने हिस्सा लिया.

Post Author: KUKU

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *