आठ घंटे तक भीगती रही लाश, नहीं पहुंचे डॉक्टर

मंगलवार सुबह आठ बजे पोस्टमार्टम के लिए आई एक लाश आठ घंटे तक पोस्टमार्टम हाउस के बाहर बारिश में सड़क पर पड़ी भीगती रही। लाश के साथ आए परिजन भी लाश की दुर्दशा पर आंसू बहा रहे थे, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। देर शाम सीएमओ के हस्तक्षेप से शव का पोस्टमार्टम हुआ। मामला उत्तर प्रदेश के बहराइच की है।

रामगांव थाना क्षेत्र के नतहा नाला निवासी रवीन्द्र कुमार पाल की एक सड़क हादसे में मौत हो गई। पुलिस ने उसकी लाश सुबह आठ बजे बहराइच पोस्टमार्टम हाउस भेज दी। यहां ताला बंद होने के कारण लाश सड़क पर रख दी गई। इस दौरान हो रही बारिश के कारण लाश भीग रही थी। अपरान्ह दो बजे तक डाक्टर को पहुंच जाना चाहिए था, लेकिन चार बजे तक कोई डाक्टर नहीं पहुंचा। इसी बीच कहीं से मीडिया कर्मियों को इसकी जानकारी मिली तो वह मौके पर पहुंचे। वहां परिजनों ने बताया कि उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

इस बारे में जब सीएमओ से मीडिया कर्मियों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि लाश अन्दर रखवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम हाउस में लाश रखने की व्यवस्था  है। लाश बाहर ही क्यों पड़ी रही, इस सवाल का जवाब सीमएओ टाल गए। देर शाम सीएमओ के हस्तक्षेप से लाश का पोस्टमार्टम कराया गया। तब परिजन लाश लेकर घर गए। पोस्टमार्टम वाले डॉक्टर की इस संवेदनहीनता पर जिसने भी देखा उसने दुख जताया।

Post Author: Santosh Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *