15 भारतीय पहलवानों ने वर्ल्ड रैंकिंग में जगह बनाकर रचा इतिहास

भारतीय पहलवान केवल मेडल जीतकर ही इतिहास नहीं रच रहे हैं, बल्कि इस बार जारी हुई वर्ल्ड रैंकिंग में भी पहलवानों ने इतिहास रच दिया है। ऐसा पहली बार हुआ है कि वर्ल्ड रैंकिंग में 15 पहलवानों ने जगह बनाई है। इसमें अकेले हरियाणा से 12 पहलवान शामिल हैं। वर्ल्ड रैंकिंग में पहलवान छोरियां भी लड़कों को टक्कर देती दिख रही हैं।

हरियाणा की छह महिला पहलवानों ने वर्ल्ड रैंकिंग में जगह बनाई है। बजरंग पूनिया अपने भार वर्ग में पहले नंबर पर कायम हैं, तो महिला पहलवानों में सबसे ऊपर की चौथी रैंकिंग पूजा ढांडा को मिली है। ओलंपिक मेडलिस्ट साक्षी मलिक के लिए जरूर चिंता की बात है कि उन्हें इस बार भी वर्ल्ड रैंकिंग में जगह नहीं मिली।फौगाट बहनों विनेश व रितु को वर्ल्ड रैंकिंग में एक साथ जगह मिली है। वर्ल्ड रैंकिंग में हरियाणा से बाहर के केवल तीन पहलवान हैं। इनमें यूपी से दिव्या काकरान, महाराष्ट्र से राहुल अवारे व दिल्ली से प्रवीण राणा शामिल हैं। यूडब्ल्यूडब्ल्यू (यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग) ने पहलवानों की ताजा वर्ल्ड रैंकिंग जारी की है, जिससे जहां भारतीय पहलवान उत्साहित हैं, वहीं हरियाणा के लिए दोहरी खुशी की बात है।

इस रैंकिंग से वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लेने वाले भारतीय पहलवानों का हौसला बढ़ेगा।

57 किलो में पूजा ढांडा को नंबर 4, 59 किलो में सरिता को नंबर 5 व मंजू को नंबर 9, 53 किलो में विनेश फौगाट को नंबर 6, 50 किलो में सीमा को नंबर 8, 65 किलो में रितु को नंबर 10 तो 68 किलो में दिव्या को नंबर 10 की रैंकिंग मिली है।65 किलो में बजरंग पूनिया को नंबर एक, 61 किलो में राहुल अवारे को नंबर 6, 79 किलो में प्रवीण राणा को नंबर 6, 125 किलो में सुमित को नंबर 8, 86 किलो में दीपक पूनिया को नंबर 9, 92 किलो में विक्की को नंबर 9, 60 किलो में ज्ञानेंद्र को नंबर 9 तो 74 किलो में अमित धनखड़ को नंबर 10 की रैंकिंग मिली है।

भारतीय पहलवानों की कुश्ती काफी बेहतर हो रही है, जिससे उनका प्रदर्शन भी अच्छा हो रहा है। यही कारण है कि इतने पहलवानों को वर्ल्ड रैंकिंग में जगह मिली है। इससे पहलवानों का हौसला बढ़ेगा और वे ओलंपिक कोटे के लिए ज्यादा बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

Post Author: Santosh Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *